IPC Section 132 in Hindi – आई०पी०सी० की धारा 132 में क्या अपराध होते हैं?

Spread the love

IPC Section 132 in Hindi – आई०पी०सी० की धारा 132 में क्या अपराध होते हैं?

विद्रोह का दुष्प्रेरण यदि उसके परिणाम स्वरूप विद्रोह किया जाए।

Abutment, of mutiny, if mutiny is committed in consequence thereof.

IPC Section 132 in The Indian Penal Code

132. Abetment of mutiny, if mutiny is committed in consequence thereof.—Whoever abets the committing of mutiny by an officer, soldier, 1[sailor or airman] in the Army, 2[Navy or Air Force] of the 3[Government of India], shall, if mutiny be committed in consequence of that abetment, be punished with death or with 4[imprisonment for life], or imprisonment of either description for a term which may extend to ten years, and shall also be liable to fine.




Experience:- सेना को विद्रोह के लिए उकसाना और विद्रोह करवा देना। यह भी एक बहुत गंभीर किस्म का अपराध है। यह संज्ञेय अपराध है। पुलिस गिरफ्तार कर सकती है। और थाने से जमानत भी नहीं होती। क्योंकि यह जमानती अपराध है। इसमें कम से कम 10 वर्ष और अधिकतम सजा-ए-मौत तक की सजा और जुर्माना हो सकता है 1984 में सिख रेजीमेंट के कुछ सैनिक बागी हो गए थे। परंतु बाद में उन्होंने सरेंडर कर दिया था। अन्यथा उन पर इसी धारा के केस दर्ज होना था।

 

(ख) इस धारा की जमानत कहां से होती है ?

इस धारा की जमानत कोर्ट से होती है।

(ग) क्या पुलिस को इस धारा के आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए वारंट दिखाने की जरूरत होती है?

नहीं पुलिस इस धारा के आरोपी को बिना वारंट के गिरफ्तार कर सकती है।

(घ) इस धारा के मुकदमे की सुनवाई किस कोर्ट में होती है?

ऐसे अपराधों को सत्र न्यायालय सुनता है।

 

Read More

(Visited 28 times, 1 visits today)

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *