IPC Section 128 in Hindi – आई०पी०सी० की धारा 128 में क्या अपराध होता है?

Spread the love

IPC 128 in Hindi – आई०पी०सी० की धारा 128 में क्या अपराध होता है?

 

IPC 128 in Hindi – लोक सेवक का सुरक्षा या राज्यकैदी या युद्ध कैदी को निकल भागने देना।

Public servant voluntarily allowing prisoner of State Or war to escape.

 

Section 128 in The Indian Penal Code

IPC Section 128. Public servant voluntarily allowing prisoner of State or war to escape.—Whoever, being a public servant and having the custody of any State prisoner or prisoner of war, voluntarily allows such prisoner to escape from any place in which such prisoner is confined, shall be punished with 1[imprisonment for life], or imprisonment of either description for a term which may extend to ten years, and shall also be liable to fine.




Experience:- सरकारी कर्मचारी द्वारा अपनी मर्जी से अपनी हिरासत से कैदी किसी राज्यकैदी या युद्ध कैदी को भागने देना। इसमें 10 वर्ष की जेल से लेकर आजीवन कारावास तक हो सकती है। और जुर्माना भी होता है। याह संज्ञेय अपराध है। और आजमानतीय भी है, इसीलिए इसकी जमानत भी कोर्ट से होती है।

 

(ख) इस IPC 128 in Hindi धारा की जमानत कहां से होती है?

इस धारा की जमानत कोर्ट से होती है।

 

(ग) क्या पुलिस को इस धारा के आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए वारंट दिखाने की जरूरत होती है?

नहीं पुलिस इस धारा के आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए बिना वारंट के भी गिरफ्तार कर सकती है।




(घ) इस धारा के मुकदमे की सुनवाई किस कोर्ट में होती हैं?

ऐसे अपराधों को सत्र न्यायालय भी सुनता है।

 

Read More

 

(Visited 25 times, 1 visits today)

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *