कोविड-19 आईपीसी की धारा 271 Quarantine Rule

Spread the love

कोविड-19 आईपीसी की धारा 271 Quarantine Rule

दोस्तों हम सभी लोग यह तो अच्छी तरह से जान चुके हैं कि किस तरह से कोविड-19 ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है और भारत पर इससे बचा नहीं है ।

 

इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च से 21 दिनों के लोग जौनपुर भारत में लागू कर दिया है और इस वायरस को रोकने के लिए कहे कारगर उपाय भी है तो आज की उसमें मैं आपको बताऊंगी आईपीसी की धारा 271 के बारे में Quarantine Rule क्या कहता है ।




कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए सरकार ने आधा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत दिए गए शब्दों का प्रयोग करके 21 दिनों का lockdown कर दिया।

 

आईपीसी की धारा 271 इसके संबंध में क्या कहती है ?

 

आईपीसी की धारा 271 क्वॉरेंटाइन के नियमों के बारे में बात करता है यह एक प्रोविजन है जो तक लागू होता है जब कहीं लॉक डाउनलोड किया गया हो इसमें 6 महीने के लिए जुर्माना दोनों से दंडित किया जा सकता है भारतीय दंड संहिता 1807 की धारा 271 के अंतर्गत में कहा गया है कि अगर कोई व्यक्ति जानबूझकर उस नियम का उल्लंघन करेगा तो उसे इस धारा के तहत दोषी ठहराया जा सकता है।




दूसरे शब्दों में जनता का चौक कोई व्यक्ति क्वॉरेंटाइन नियमों का उल्लंघन करता है यहां क्वॉरेंटाइन नियम का मतलब यह है कि अगर किसी क्षेत्र में जहां कोई संक्रमण रोग फैला हुआ है दूसरे क्षेत्रों से अलग रखा गया है जिसमें वह इन्फेक्शन दूसरे क्षेत्रों में ना पहले अगर इन नियमों का उल्लंघन करेगा तो इस धारा के अंतर्गत उसे दंडित किया जाएगा ।

 

उदाहरण के लिए

 

पटना में एक दंपत्ति जोड़ा जो House Quarantine Rule नियमों के तहत पटना में एक हॉस्पिटल में रखा गया था क्योंकि वह सऊदी अरब से लौटे थे लेकिन वह इस नियम का उल्लंघन करते हुए हॉस्पिटल के बाहर घूमते हुए पाए गए उन्हें इन धारा 271 के अंतर्गत दंडित किया जाएगा

 

धारा 271 आईपीसी के अंतर्गत अपराध के लिए निम्न बातों का होना आवश्यक है

1. Quarantine का एक नियम लागू होना चाहिए
2. यह नियम सरकार द्वारा लागू किया जाना चाहिए
3. अपराधी को नियमों के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए
4. आरोपी द्वारा नियमों को जानबूझकर तोड़ा गया हो
5. और इस बात पर बिल्कुल महत्व नहीं रखता कि अभियुक्त ने उन नियमों का उल्लंघन किस लिए किया था

 

करोना आईपीसी dhara 271- covid 19

 

 करोना को रोकने के लिए सरकार की पूरी तरह से कोशिश कर रही है कि लोग एक दूसरे के संपर्क में ना आए। और विदेश से आने वाले लोगों को क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है। क्योंकि उनको उन लोगों को उनके ही घरों में रहने की सलाह दी जा रही है क्योंकि अगर बाहर निकलकर गलती से भी कोरोना पॉजिटिव लोगों की चपेट में आए तो यह रोग तेजी से फैलेगा।




इन्हीं मामलों में आदेश का उल्लंघन करने वालों पर धारा 271 लागू होती है।  केरल में हाल ही में अमेरिका से लौटे एक व्यक्ति को Quarantine Rule के लिए रजिस्टर किया गया था।  पर वह व्यक्ति बाजारों में घूमता हुआ पाया गया। जिसके बाद आईपीसी की धारा 188/269/270 और धारा 271 के तहत उस पर मामला दर्ज किया गया।

 

 

(Visited 44 times, 1 visits today)

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *