Category: Judgements

Gratuity Act Applies only when there are Options for the Employee Under the Act under Contract with Employer

Gratuity Act Applies only when there are Options for the Employee Under the Act under Contract with Employer   ग्रेच्युटी कानून के क्षेत्र में एक उल्लेखनीय निर्णय देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पेमेंट ऑफ ग्रेच्युटी एक्ट, 1972 की...

Mallikarjunaiah v. H.C. Gowramma | Is a marriage where parties are below the minimum age requirement under the Hindu Marriage Act void

Mallikarjunaiah v. H.C. Gowramma, AIR 1997 Kant 77: ILR 1997 Kant 964: 1997 (1) Kant 570 Issue: Mallikarjunaiah v HC Gowramma   Is a marriage where parties are below the minimum age requirement under the Hindu Marriage Act void? Facts: Mallikarjunaiah...

High Court Judgement on Mutual Will- Mutual Will comes into Effect on Death of Either of the Joint Testators

Mutual Will comes into Effect on Death of Either of the Joint Testators दिल्ली हाईकोर्ट ने ‘विक्रम बहल एवं अन्य बनाम सिद्धार्थ बहल’ मामले में हाल ही में सुनाये गये फैसले में व्यवस्था दी है कि ‘परस्पर वसीयत’ (म्यूचूअल विल) की...

Supreme Court Judgement on Section 4 of Gratuity Payment Act | 5 साल नौकरी करने के बाद ग्रेच्युटी का भुगतान करना जरूरी

सुप्रीम कोर्ट का फैसला 5 साल नौकरी करने के बाद इस्तीफा देने पर ग्रेच्युटी का भुगतान करना जरूरी होगा   न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति ए एस बुढापा की खंडपीठ ने ग्रेच्युटी भुगतान अधिनियम की धारा 4 (Section 4 of Gratuity...

Supreme Court Judgement on Handicap Pension – क्या किसी सेना के अधिकारी को घर का काम करते हुए चोट लगे तो विकलांगता पेंशन देनी चाहिए

क्या किसी सेना के अधिकारी को घर का काम करते हुए चोट लगे तो विकलांगता पेंशन देनी चाहिए ? Secretary to the Government of India vs. Dharambir Singh   इस मामले पर फैसला सुनाया सुप्रीम कोर्ट ने :- इस मामले में...

Adopting Girl Child Despite Having One Biological Girl Child- खुद की एक बेटी होने के बावजूद बेटी को गोद लेना

बॉम्बे हाईकोर्ट ने पिछले हफ्ते मुंबई के एक दंपति को 7 महीने की बच्ची को गोद लेने की अनुमति दी थी, जिनकी पहले से ही एक 14 वर्षीय बेटी है।   इसके बाद अदालत ने कहा कि- ‘   ‘इस कारण...

Suraj Jagannath Jadhav vs State of Maharashtra | नशे में किया अपराध कब अपराध अपराध होगा

नशे में किया अपराध कब अपराध अपराध होगा   सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर आरोपी अत्यधिक नशे के कारण अक्षम हालात में न हो तो नशे को अपराध की गंभीरता कम करने का कारक नहीं माना जा सकता है।...